✨ संत रविदास जयंती विशेष भेंट ✨
content home
लॉगिन करें
ये जिंदगी उसी की है, जो किसी का हो गया
Thumbnail
AP Name Logo
लोकप्रिय गीतों के गूढ़ आध्यात्मिक अर्थ
पूरी श्रृंखला देखें
1 घंटा 43 मिनट
हिन्दी
विशिष्ठ वीडिओज़
पठन सामग्री
आजीवन वैधता
सहयोग राशि: ₹21 ₹500
एनरोल करें
कार्ट में जोड़ें
रजिस्टर कर चुके हैं?
लॉगिन करें
छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करें
वीडियो श्रृंखला को साझा करें
परिचय
लाभ
संरचना

गीत तो हम सब बहुत चाव से सुनते हैं, गुनगुनाते हैं, और उन गीतों पर कदम थिरकाने से पीछे भी नहीं हटते हैं। शादियों में, पार्टियों में या किसी भी त्योहार पर हम हर जगह गीतों का शोर ही सुन रहे होते हैं।

मगर यही गीत के बोल जब गुरु के मुख से निकलते हैं तो वह गीत भजन और सुमिरन में बदल जाते हैं। गुरु गीत के बोलों को इस तरह से समझते और समझाते हैं मानों इंसान हर क्षण बस उसकी ही तलाश कर रहा है, उसको ही पाना चाहता है। वह गीत जो शोर और वासनाओं से भरे होते थे, गुरु यह समझा देता है कि हमारा मन जाना तो वहीं चाहता है जहांँ जाने से मन सबसे ज्यादा कतराता है— परमात्मा तक।

आचार्य प्रशांत संग हम जानेंगे गीतों के गूढ़ अर्थ इस सरल से कोर्स में।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

आप जिस उत्तर की तलाश कर रहे हैं वह नहीं मिल रहा है? कृपया हमारी सपोर्ट टीम से संपर्क करें।

कोई भी वीडियो श्रृंखला आचार्य प्रशांत के यूट्यूब वीडियो से कैसे अलग है?
क्या ये लाइव वीडियो हैं या इसमें पहले से रिकॉर्डेड वीडियो हैं?
वीडियो श्रृंखला के लिए सहयोग राशि क्यों रखी गयी है? यह निःशुल्क क्यों नहीं है?
सहयोग राशि से अधिक दान देने से मुझे क्या लाभ होगा?
वीडियो श्रृंखला की रजिस्ट्रेशन की प्रकिया के बाद मैं उसे कब तक देख सकता हूँ?
क्या वीडियो श्रृंखला के वीडियो को बार-बार देखने की सुविधा उपलब्ध है?
मुझे वीडियो श्रृंखला से बहुत लाभ हुआ, अब मैं संस्था की कैसे सहायता कर सकता हूँ?
130+ ईबुक्स ऍप में पढ़ें