Acharya Prashant is dedicated to building a brighter future for you
Articles
डर और मुक्ति || आचार्य प्रशांत, मारिया रिल्के पर (2013)
Author Acharya Prashant
Acharya Prashant
1 मिनट
370 बार पढ़ा गया

प्रेम का अभाव ही डर है।

~ आचार्य प्रशांत

Perhaps everything that frightens us in its deepest essence is something helpless, that needs our love.

~ Rainer Maria Rilke

प्रसंग: - हमें डर कब और क्यों लगता है? - डर से मुक्ति कैसे संभव है? - डर क्या है? - डर का समाधान क्या है ? - क्या डर बाहरी है? - क्या डर एक सिर्फ कल्पना है? - क्या दो तरीके के डर होते हैं? - डर और डर के बीच क्या अंतर है?

क्या आपको आचार्य प्रशांत की शिक्षाओं से लाभ हुआ है?
आपके योगदान से ही यह मिशन आगे बढ़ेगा।
योगदान दें
सभी लेख देखें