✨ संत रविदास जयंती विशेष भेंट ✨
Acharya Prashant
To apply for Live Vedant Samhita Sessions, please fill the form
Name
Email
Mobile Number
+91
Age
Gender
पुरुष
स्त्री
Profession
Select
Submit
Already enrolled? Please Log in
आगामी सत्र
वेदांत संहिता
3 मार्च, 9:30 PM
कोर्स में भाग ले चुके हैं? लॉग इन करें
वेदांत संहिता
वेदांत संहिता में हम अष्टावक्र गीता और कठोपनिषद को गहराई से समझेंगे।

अष्टावक्र संहिता: मुमुक्षु साधकों के लिए है ऋषि अष्टावक्र की बात। अद्वैत ज्ञान का इसमें निरूपण भी है, मुक्ति के चरणबद्ध उपाय भी हैं और ब्रह्मज्ञानी की बात भी है। विशुद्ध वेदान्त की एक सशक्त अभिव्यक्ति और शुद्धतम प्रतिनिधि है यह।

राजा जनक हैं, बुद्धिमान हैं, विवेकी हैं, बड़ा राज्य है, सब प्रकार से समृद्ध और प्रसन्न हैं, परंतु फिर भी एक अपूर्णता सताती है। तो जंगल जाते हैं ऋषि अष्टावक्र से मिलने और अष्टावक्र उम्र में राजा जनक से बहुत छोटे हैं।

तो ज्ञान पाने के लिए, मुक्ति पाने के लिए जनक जाते हैं युवा अष्टावक्र के पास, अपने रथ पर सवार होकर। रथ से उतरते हैं, प्रणाम करते हैं और पूछते हैं गहरे प्रश्न।
विस्तृत जानकारी
  • प्रतिमाह 4 भाष्य सत्र जिनमें आचार्य प्रशांत श्लोकों को गहराई से समझायेंगे
  • सत्रों में आप अपने प्रश्न भी पूछ सकते हैं
  • अधिक गहराई से सीखने और समझने हेतु आचार्य प्रशांत ऐप पर कम्युनिटी का एक्सेस
अष्टावक्र गीता के कुछ श्लोक
यूट्यूब वीडियोस
आपकी आवाज़
अन्य सहायक पुस्तकें